28 C
Lucknow
Sunday, May 22, 2022

आंध्र प्रदेश पहुंचा ‘आसनी’ तूफान, राज्य के कई हिस्सों में तेज बारिश

विशाखापत्तनम। बंगाल की खाड़ी में उठा चक्रवात ‘आसनी’ (Cyclone Asani ) आंध्र प्रदेश पहुँच चुका है। जिसके चलते काकीनाडा के कुछ हिस्सों में तेज़ हवाएं चल रहीं है और बारिश तेज हो रही है। IMD के अनुसार, अगले कुछ घंटों के लिए चक्रवात के उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और आंध्र प्रदेश तट के करीब बंगाल की खाड़ी में पश्चिम-मध्य तक पहुंचने की संभावना है।

काकीनाडा थिम्मापुरम पुलिस स्टेशन के उप निरीक्षक राम कृष्ण ने बताया कि समुद्र तट के साथ लगता रोड काफी क्षतिग्रस्त हुआ है। हम 2 चेक पोस्ट लगाकर ट्रैफ़िक को इस तरफ जाने से रोक रहे हैं। हम पूरे अलर्ट पर हैं। माइक से भी लोगों को अनुरोध किया है कि बाहर न निकलें, फिशिंग की अनुमति नहीं है।

विशाखापत्तनम हवाई अड्डे के निदेशक के. श्रीनिवास राव ने कहा कि चक्रवात ‘आसनी’ को देखते हुए एयर इंडिया को अभी अपनी उड़ानों के संचालन के बारे में फैसला नहीं लिया है। स्पाइसजेट की कोलकाता-विशाखापत्तनम-कोलकाता उड़ानें रद्द रहेंगी, हैदराबाद की उड़ान के संबंध में फैसला दोपहर 2 बजे के बाद किया जाएगा। उन्होंने बताया कि चक्रवात असानी के मद्देनजर आज इंडिगो की सभी उड़ानें (22 आगमन और 22 प्रस्थान) रद्द रहेंगी। एयर एशिया ने बेंगलुरु से एक और दिल्ली से एक उड़ान रद्द की है, शाम की उड़ानों के बारे में निर्णय अभी नहीं लिया गया है।

चक्रवाती तूफान आसनी से निपटने के लिए राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) की टीमें अलर्ट मोड पर हैं। एनडीआरएफ की कुल 50 टीमों को पश्चिम बंगाल, ओडिशा और आंध्र प्रदेश के लिए लगाई गई हैं।एनडीआरएफ के अधिकारियों के अनुसार 22 टीमों को पहले ही तैनात किया जा चुका है, जबकि 28 टीमों को स्थिति से निपटने के लिए राज्यों के भीतर अलर्ट पर रखा गया है क्योंकि आसनी तूफान उत्तरी आंध्र प्रदेश के तट पर पहुंच चुका है।तैनात 22 टीमों में से 12 टीमों को पश्चिम बंगाल के तटीय जिलों में नौ टीमों को तटीय आंध्र प्रदेश में और एक टीम को ओडिशा के बालासोर जिले में तैनात किया गया है।

तूफान को देखते हुए एनडीआरएफ कर्मी चक्रवात के दौरान क्या करें और क्या न करें के बारे में तटीय इलाकों में जागरूकता अभियान चला रहे हैं और तट रेखा पर रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थान/ आश्रयों में स्थानांतरित करने के लिए लोगों से खास अपील कर रहे हैं। मछुआरों को अगले 48 घंटों तक समुद्र में न जाने की सलाह दी गई है। इसके साथ ही आइएमडी इंटरनेट मीडिया का सहारा लेकर संदेशों के जरिए लोगों को तूफान की ताजा स्थिति से अवगत कर रहा है।

वहीं, भुवनेश्वर के मौसम विभाग ने यह भी बताया कि भीषण चक्रवाती तूफान आसनी अगले 24 घंटों में कमजोर होकर चक्रवाती तूफान में बदल जाएगा। इसके प्रभाव में आने वाले मलकानगिरी, गजपति, गंजम, पुरी जिलों के लिए अगले 24 घंटों में भारी बारिश की चेतावनी है।

मौसम विभाग की ताजा भविष्यवाणी के अनुसार, 12 मई यानी गुरुवार को ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है और अलग-अलग स्थानों पर भी भारी बारिश हो सकती है।

Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave a Reply