28 C
Lucknow
Wednesday, January 19, 2022

आवाज़ ए ख़्वातीन की ओर से लगाया गया मुफ़्त मधुमेह जाँच व जागरूकता शिविर

नई दिल्ली। ताज़ा आँकड़ों के मुताबिक़ भारत में करीब 6 करोड़ लोग डायबिटीज से पीड़ित हैं, जबकि एक बड़ी तादाद ऐसे लोगों की है जो डायबिटीज की कगार पर हैं। महिलाओं के लिए काम करने वाली दिल्ली स्थित ग़ैर सरकारी संस्था आवाज़ ए ख़्वातीन की ओर से दक्षिण दिल्ली के जामिया नगर के बाटला हाउस इलाके में मुफ़्त मधुमेह जाँच और जागरूकता शिविर लगाया गया। विशेष तौर पर महिलाओं के लिए आयोजित शिविर में करीब 200 से ज़्यादा लोगों ने शुगर, ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल और क्रिएटिनिन की मुफ़्त जाँच करवाई। शिविर नैशनल डायबिटीज, ओबेसिटी एंड कोलेस्ट्रॉल फाउंडेशन और फोर्टिस सी डॉक के सहयोग से लगाया गया।

शिविर में 28 लोगों में डायबिटीज की पुष्टि हुई इनका शुगर लेवल 300 से अधिक पाया गया। सबसे बड़ी बात ये कि इन्हें इसका पता ही नहीं था। करीब 47 लोगों में डायबीटीज के शुरूआती लक्षण पाए गए। लेकिन उनकी शुगर नियंत्रण में नहीं थी। शिविर में मरीजों की जांच फोर्टिस सी डॉक के वरिष्ठ डायबिटीज विशेषज्ञ डॉ विमल गुप्ता ने की। शिविर में करीब 75 प्रतिशत मरीजों में डायबिटीज के बारे में पर्याप्त जानकारी नहीं थी। उसके लिए काउंसलर ने मरीजों को बताया। शिविर में मरीजों की शुगर जांच, पैरों की जांच, डाइट परामर्श दिया गया। डा. गुप्ता ने बताया कि डायबिटीज को लेकर अभी और जागरूकता की जरूरत है। क्योंकि डायबिटीज एक ऐसा रोग है, जो हर उम्र के व्यक्ति को हो सकता है। इसलिए हम अपनी दैनिक दिनचर्या के साथ-साथ व्यायाम को भी निरंतर प्राथमिकता दें।

ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के लिए विशेषज्ञों ने सुझाए व आसान उपाय

डा. विमल गुप्ता ने कहा कि डायबिटीज तेजी से फैलती बीमारी है जो निम्न एवं मध्यम वर्ग के लोगों में अधिक है। खानपान पर नियंत्रण, नियमित व्यायाम तथा नियमित स्वास्थ्य जांच द्वारा इस रोग से बचा जा सकता है। मौके पर डायबिटीज एजुकेटर इंतज़ामुल ने लोगों को आधुनिक जीवन शैली में रहन-सहन एवं खानपान का स्तर सुधारने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि टाइप वन डायबिटीज में मरीज को इंसुलिन लेने की सलाह दी जाती है क्योंकि उसमें पेनक्रियाज इंसुलिन नहीं बना पाता। टाइप टू मरीजों को दवाई से शुगर लेवल सही किया जा सकता है।

वजन घटाना, मधुमेह को नियंत्रित करने के सबसे अच्छे तरीकों में से एक है। वजन कम करने के लिए साइकिलिंग करना सबसे अच्छा व्यायाम हो सकता है। वजन के साथ ब्लड शुगर के स्तर को कम करने में साइकिलिंग सबसे अच्छा तरीका माना जा सकता है।फिट रहने के सबसे आसान तरीकों में से एक है-वाकिंग। रोजाना सुबह और शाम पार्क में या घर की छत पर ही कुछ देर वॉक करके मधुमेह की जटिलताओं को प्रबंधित करने में मदद मिल सकती है।

रोजाना वॉक करने से वजन नियंत्रित रहता है साथ ही यह हृदय और हड्डियों की समस्याओं को दूर रखने में भी मदद कर सकता है। रोजाना 30 मिनट वॉक की दिनचर्या बनाएं, यह ब्लड शुगर के स्तर को कम करने के साथ शरीर के लिए कई अन्य तरीकों से भी फायदेमंद हो सकता है।
तरन्नुम अतहर की रिपोर्ट

Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave a Reply