28 C
Lucknow
Monday, December 6, 2021

भारत बंद का यूपी में दिखा मिलाजुला असर, नोएडा में जाम व सहारनपुर में रोकी ट्रेन

लखनऊ। तीन कृषि कानूनों के खिलाफ और एमएसपी की गांरटी के मांग को लेकर किसानों ने आज भारत बंद किया है। इसमें किसानों के आंदोलन का नेतृत्व करने वाले 40 से अधिक किसान संगठनों के निकाय संयुक्त किसान मोर्चा, अनेक सामाजिक संगठनों और राजनैतिक दल भारत बंद का समर्थन कर रहे है।

भारत बंद का असर देश के कई राज्यों में दिखाई पड़ा है। वहीं उत्तर प्रदेश में भी इसका असर सामने आने लगा है। कई जिलों में किसानों ने जाम लगा दिया है। नोएडा में भारत बंद के ऐलान के चलते DND पर गाड़ियों का लंबा जाम देखा गया। वहीं सहारनपुर में भी किसानों ने ट्रेन को रोक लिया है। जनपद मुजफ्फरनगर में भाकियू के कार्यकर्ताओं ने छपार और रोहाना पर जाम लगाया है। स्टेट हाईवे और नेशनल हाईवे पर यातायात बंद हो गई है।

 

सहारनपुर में किसानों ने लखनऊ-चडीगढ एक्सप्रेस को रोक लिया। अम्बाला की ओर से आने वाली अभी तक कोई रेल नहीं आई है। बताया जा रहा है कि अम्बाला से आगे रोपड़ में रेलवे ट्रैक पर किसान बैठें हुए हैं। किसानों ने दिल्ली और मेरठ एक्सप्रेस-वे पर जाम लगाया। इसी कारणवश यूपी गेट से ट्रैफिक डायवर्ट किया गया। पूरे प्रदेश में तमाम शिक्षण संस्थान, दुकानें कार्यालय बंद हैं। किसानों द्वारा किये गये भारत बंद में निजी वाहनों की आवाजाही पर रोक नहीं है। राज्य शिक्षा विभाग ने भारत बंद को देखते हुए सोमवार को होने वाली परीक्षाओं की तारीख में परिवर्तन कर दिया है।

उत्तर प्रदेश कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने कहा कि कृषि क़ानून के खिलाफ किसान संगठनों द्वारा ‘भारत बंद’ के ऐलान के चलते सभी ज़िला कप्तानों, DIG, IG, ADG को अतिरिक्त सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं। अधिकारियों को फील्ड में रहने के निर्देश दिए हैं। तमाम बॉर्डर पर सुरक्षा बढ़ाई गई है।

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि कि आज शाम 4 बजे तक भारत बंद रहेगा। लोगों से अनुरोध है कि लंच के बाद ही निकलें, नहीं तो जाम में फंसे रहेंगे। एम्बुलेंस को, डॉक्टरों को, ज्यादा ज़रूरतमंदों को निकलने दिया जाएगा। दुकानदारों से भी अपील की है कि आज दुकानें बंद रखें।

गौरतलब है कि केन्द्र सरकार द्वारा लाये गये तीन कृषि कानूनों के विरोध में किसान दिल्ली मे विभिन्न बॉर्डरों पर पिछले दस माह से आंदोलन कर रहे हैं। पंजाब, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हरियाणा आदि के किसान सरकार से कृषि कानूनों को रद्द करने और एमएसपी पर कानून बनाने की मांग कर रहे हैं। मुजफ्फरनगर में इन्हीं मांगों को लेकर महापंचायत की गई थी। इस महापंचायत किसान लीडरों ने 27 सितम्बर भारत बंद करने का निर्णय लिया था।

 

Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave a Reply