आकाश एजुकेशनल अलीगंज में अपना नया सेंटर लांच किया

 

आकाश एजुकेशनल अलीगंज में अपना नया सेंटर लांच किया
हाइब्रिड मोड में आधुनिक शिक्षा के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर से लैस है स्मार्टक्लास
लखनऊ। परीक्षा तैयारी सेवाओं में देश भर में अग्रणी आकाश एजुकेशनल सर्विसेज लिमिटेड (एईएसएल) ने आज अलीगंज, लखनऊ में अपने नए सेंटर का उद्घाटन किया। इस सेंटर में 21 कक्षाएँ हैं जिसमें एक साथ 1100 छात्रों के बैठने जी जगह है। बदलते समय को देखते हुए कक्षाएँ स्मार्ट और डिजिटल दोनों ही रूप से सक्षम हैं ताकि आधुनिक शिक्षा की निरंतरता सुनिश्चित हो सके। स्मार्ट क्लासरूम और उच्च बैंडविड्थ कनेक्टिविटी से लैस, अलीगंज सेंटर ’हाइब्रिड मोड’ में पाठ्यक्रम पेश करने के लिए सक्षम है – जिसमें शहर में मेडिकल और इंजीनियरिंग छात्रों के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन कक्षाओं का सही मिश्रण शामिल है। नए सेंटर में पारंपरिक तरीके से कक्षाएं संचालित करने के लिए एक सुरक्षित वातावरण भी है, जिसमें स्वच्छता, व्यक्तिगत स्वच्छता और सोशल डिस्टन्सिंग के संदर्भ में सरकार के ब्व्टप्क्-19 दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन किया जाता है। हाइब्रिड मोड में दी जाने वाली कोचिंग छात्रों को एक सुरक्षित डिजिटल प्लेटफॉर्म पर लाइव तथा पहले से रिकॉर्ड किए गए वीडियो से सीखने में मदद करता है, और मुख्य विषयों पर लेक्चर्स के लिए ऑफलाइन कक्षाओं का दौरा करने, संदेहों को दूर करने और अन्य छात्रों के साथ ग्रुप डिस्कशन करने का अवसर प्रदान करता है। यहां तक कि जब छात्र अपनी ऑफलाइन कक्षाओं में होते हैं, तब भी वे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शिक्षकों और अन्य केंद्रों के छात्रों से जुड़ सकते हैं और उनके साथ बातचीत कर सकते हैं। लेक्चर्स में 2डी, 3डी और एनिमेशन सामग्री का उपयोग करते हुए डिजिटल, टच-सेंसिटिव व्हाइटबोर्ड का उपयोग किया जाएगा। अलीगंज सेंटर के उद्घाटन पर टिप्पणी करते हुए, आकाश एजुकेशनल सर्विसेज लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर, श्री आकाश चौधरी ने कहा, “हम लखनऊ में अपना नया सेंटर खोलने के लिए उत्साहित हैं, जो हाइब्रिड मोड में कोचिंग की पेशकश करने के लिए अच्छी तरह से सुसज्जित है। लखनऊ हमारे लिए एक महत्वपूर्ण क्षेत्र है क्योंकि पूरे ऊ. प्र. से छात्र अपनी पढ़ाई के लिए यहां आते हैं, यही वजह है कि शहर में हमारे पास पहले से ही 3 और सेंटर हैं ताकि हम अपने उपभोक्ताओं के करीब आ सकें। सेंटर को शिक्षा में निरंतरता सुनिश्चित करने तथा छात्रों के लिए व्यक्तिगत कोचिंग देना, जिनका पढ़ाई में सुधार के एकमात्र उद्देश्य है, के लिए डिज़ाइन किया गया है। यह प्रदर्शित करता है कि हमारे छात्रों के लिए सीखने का एक सहज मिश्रित वातावरण कैसा हो सकता है। हाइब्रिड कक्षाओं के लिए आकाश के दृष्टिकोण पर, उन्होंने कहा कि इसका उद्देश्य छात्रों और शिक्षकों दोनों के लिए डिजिटल प्रौद्योगिकियों और एडटेक अग्रिमों के सर्वोत्तम उपयोग को सक्षम करना है। “आकाश में, हम लगातार फिजिटल शिक्षा की सीमाओं को आगे बढ़ा रहे हैं। स्मार्ट क्लासरूम हमारे छात्रों के लिए उनकी सुविधा के अनुसार समय और कक्षाएं प्रदान करने में मदद करता है ताकि वह विषयों को अपनी गति से सीख सकें। हमने जिस तकनीक को चुना है वह भविष्य के लिए सुरक्षित है, क्योंकि यह आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस, वर्चुअल रियलिटी और ऑगमेंटेड रियलिटी के क्षेत्र में किसी भी एडटेक प्रगति को शामिल कर सकती है। ”
इसके अलावा, स्मार्ट प्रौद्योगिकियां फैकल्टी के लिए भी एक वरदान हैं। वे सहजता से कक्षा की योजनाएँ बना सकते हैं, और भविष्य या उपयोग के लिए कक्षाओं को रिकॉर्ड कर सकते हैं। छात्रों का आकलन करने के लिए ’छात्र प्रतिक्रिया प्रणाली’ जैसे विशेष सॉफ्टवेयर हैं। सेंटर में एक स्वचालित उपस्थिति प्रणाली है। यहां तक कि अभिभावक-शिक्षक बैठक भी ऑनलाइन हो सकती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eight − 7 =