28 C
Lucknow
Sunday, November 28, 2021

मायावती ने जारी किया उपलब्धियों का पत्रक, बाह्मणों को जोड़ने की जिम्मेदारी दी महासचिव को

लखनऊ। बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने सोमवार को पार्टी कार्यालय में उपलब्धियों का पत्रक जारी किया उन्होंने कहा कि यह पत्रक आम लोगों तक पहुंचाया जाएगा, ताकि लोग जान सके कि इसी तर्ज पर बसपा विकास कार्य कराएगी। उन्होंने कहा कि बसपा की सरकार बनने पर सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय पर काम करेंगे। उम्मीद जताई कि 2007 की तरह ही 2022 में भी विधानसभा चुनाव का परिणाम आएगा। उन्होंने कहा कि पार्टी घोषणापत्र जारी नहीं करती, बल्कि विकास कार्य करके दिखाने में विश्वास करती है। बसपा ने ही देश की आजादी के बाद सबसे अधिक विकास कराया है।

मायावती ने कहा कि उन्होंने पहले भी चार बार उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव जीता है। आरोप लगाया कि सपा और भाजपा उनकी सरकार में हुए कार्यों को अपना बता रही है, जबकि जो कार्य बसपा सरकार ने किए वह कोई और नहीं कर सका है। उन्होंने पत्रक दिखाते हुए कहा कि बसपा ने अपने अभी तक के कार्यों को बि‍ंदुवार इसमें लिखा है। चुनाव के लिए नई रणनीति बनाने व पूरी ताकत से जुटने का निर्देश दिया गया है। कृषि कानूनों की वापसी पर पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि अब केंद्र सरकार को इस मामले को ज्यादा लटकाना नहीं चाहिए। किसानों के अन्य जो भी मसले व जायज मांगे हैं उनको मान लेना चाहिए, ताकि किसान खुशी-खुशी अपने घरों को लौट सकें।

बसपा अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने सूबे की सुरक्षित 86 विधानसभा सीटों के पदाधिकारियों को लखनऊ बुलाया है, वे सभी सुरक्षित विधानसभा सीटों के अध्यक्षों के साथ मंथन करेंगी, ताकि उन्हें जीत मिल सके। उन्हें बताएंगे कि 2007 की तरह सभी सीटों को कैसे जीता जाए। सभी जिलों में पदाधिकारियों को चुनाव में जुटने का निर्देश दिया गया है।

उन्होंने कहा कि सभी 75 जिलों के पदाधिकारियों से वार्ता कर रही हूं। नौ अक्टूबर से प्रदेश की सभी 403 विधानसभा सीटों पर बूथ पर काम करने का निर्देश दिया था, उसका लगातार रिव्यू जारी है। पार्टी से ब्राह्मण वर्ग को जोडऩे की जिम्मेदारी महासचिव सतीश चंद्र मिश्र को सौंपी है। इसी तरह से पश्चिम की बसपा कमेटियों का रिव्यू किया है।

Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave a Reply