28 C
Lucknow
Tuesday, October 19, 2021

ओबे कैब्स ने लखनऊ में सबसे सस्ती कैब सेवा शुरू की

नवम्बर में गुजरात के पांच शहरों में भी सेवायें शुरू करने की तैयारी

लखनऊ। भारत की सबसे किफायती कैब सेवाओं में से एक ओबे कैब्स ने लखनऊ शहर में अपनी सेवाओं का विस्तार किया है। आज यहां खरगापुर गोमतीनगर स्थित क्षेत्रीय कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम के दौरान शहर में ओबे कैब्स की सबसे सस्ती सेवाओं का शुभारम्भ किया गया। इस मौके पर कम्पनी के सीईओ संजय कुमार सहित कई प्रमुख लोग मौजूद थे। इस मौके पर उन्होंने बताया कि ओबे कैब्स की सेवाओं में ग्राहकों को किराये में अन्य ब्राण्ड की तुलना में काफी लाभ होगा। इस मौके पर कम्पनी के सीईओ संजय कुमार ने बताया कि ब्रांड को द वर्चुअल ग्रुप से 10 करोड़ की फंडिंग राशि प्राप्त हुई और उसने पहले ही कोलकाता, गुवाहाटी, जोरहाट, बुलंदशहर, बिलासपुर, कोरबा और धुबरी शहर में अपनी जड़ें जमा ली हैं, और ओबे कैब्स नवंबर के महीने में गुजरात के पांच शहरों अहमदाबाद, गांधीनगर, राजकोट, सूरत और वडोदरा में अपनी सेवाएं शुरू करने की तैयारी कर रहा है। उन्होंने बताया कि कंपनी की स्थापना टैक्सी ड्राइवरों को बेहतर वित्तीय और आय के अवसर प्रदान करने के लिए की गई थी, जबकि उनके ग्राहकों के लिए अधिभार को कम करते हुए कैब्स ने स्टार्ट-अप इंडिया योजना के तहत भारत की दूसरी सबसे बड़ी टैक्सी एग्रीगेटर कंपनी के रूप में अपना स्थान प्राप्त कर लिया है। ओबे कैब्स के पास पूरे देश के 8 शहरों में लोगों की सेवा करने वाली 35000 कैब्स हैं। वे यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि उनकी कैब कोई रद्दीकरण शुल्क, कोई अतिरिक्त रात का किराया, और कोई शुल्क रिचार्ज न मांगे, जिससे वे शहर का सबसे किफायती कैब विकल्प बन गए हैं। वे अपने सभी उपयोगकर्ताओं के लिए एक बीमा पॉलिसी भी उपलब्ध करा रहे हैं। संजय कुमार द्वारा स्थापित, ओबे कैब्स पूरे देश को स्वदेशी सेवा प्रदान करने के उद्देश्य से काम कर रहा है। वे सबसे सस्ती सेवा देने का सपना पूरा कर रहे हैं ताकि देश का हर व्यक्ति अपनी जरूरत के हिसाब से टैक्सी बुक कर सके। ब्रांड को लॉन्च करने की प्रेरणा के बारे में बात करते हुए, उन्होंने कहा, “कई ड्राइवरों को अन्य कंपनियों के ड्राइवर से अधिक कमीशन लेने के कारण चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है, लेकिन उनमें से कोई भी उनकी समस्या को हल करने के लिए तैयार नहीं है। दूसरी ओर, कई कैब भी अपने ग्राहकों से अजीबोगरीब रकम वसूलती हैं। इसलिए मैंने एक ऐसी कंपनी बनाने का फैसला किया जिसमें सबसे सस्ता किराया और सबसे कम कमीशन हो ताकि किसी को परेशानी न हो। इंजीनियरिंग में स्नातक होने और एमबीए की डिग्री रखने के कारण, संजय कुमार को एक प्रभावी व्यवसायी होने की आदत है। उनका एक दृष्टिकोण है कि यदि कोई जीवन में कुछ करना चाहता है तो उसे कभी हार नहीं माननी चाहिए और अपनी दौड़ को जारी रखना चाहिए। इसे ध्यान में रखते हुए, ओबे कैब्स नवंबर के महीने में गुजरात के पांच शहरों अहमदाबाद, गांधीनगर, राजकोट, सूरत और वडोदरा में अपनी सेवाएं शुरू करने की तैयारी कर रहा है। 2022 तक, उनका लक्ष्य पूरे देश को अपनी सेवाएं प्रदान करना है और 2022 के अप्रैल महीने से बांग्लादेश के ढाका शहर से एक हेलीकॉप्टर सेवा भी शुरू करना है। इसके लिए, वे शुरुआत में छह हेलीकॉप्टर लॉन्च करने की योजना बना रहे हैं। बेहतरीन सेवाएं प्रदान करने के लिए कड़ी मेहनत करते हुए, ओबे कैब्स निश्चित रूप से विभिन्न शहरों में सबसे अधिक मांग वाली कैब सेवा के रूप में उभर रही है।

Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave a Reply