28 C
Lucknow
Wednesday, June 29, 2022

PM मोदी ने क्रेडिट लिंक्ड सरकारी योजनाओं के लिए जन समर्थ पोर्टल का किया शुभारंभ

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को क्रेडिट लिंक्ड सरकारी योजनाओं के लिए राष्ट्रीय पोर्टल जन समर्थ पोर्टल का शुभारंभ किया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि देश के आम जन के जीवन को आसान बनाना हो या देश की अर्थव्यवस्था को सशक्त करना हो, बीते 75 वर्षों में अनेक साथियों ने इसमें बहुत योगदान दिया है।

उन्होंने कहा कि बीते वर्षों में वित्त मंत्रालय और कॉरपोरेट मंत्रालय ने अपने कार्यों के द्वारा सही समय पर सही निर्णयों के द्वारा अपनी एक लीगसी बनाई है, एक बेहतरीन सफर तय किया है।आप सभी इस विरासत का हिस्सा है। साथ ही कहा कि ये नए सिक्के देश के लोगों को निरंतर अमृतकाल के लक्ष्य याद दिलाएंगे और उन्हें राष्ट्र के विकास में योगदान के लिए प्रेरित करेंगे।

पीएम मोदी ने कहा कि आज यहां रुपये की गौरवशाली यात्रा को भी दिखाया गया। इस सफर से परिचित कराने वाली डिजिटल प्रदर्शनी भी शुरू हुई और आजादी के अमृत महोत्सव के लिए समर्पित नए सिक्के भी जारी हुए। आजादी के लंबे संघर्ष में जिसने भी हिस्सा लिया, उसने इस आंदोलन में नए डायमेनशन को जोड़ा और उसकी ऊर्जा बढ़ाई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आजादी का ये अमृत महोत्सव सिर्फ 75 वर्षों का उत्सव मात्र नहीं है, बल्कि आजादी के नायक, नायिकाओं ने आजाद भारत के लिए जो सपने देखे थे, उन सपनों को परिपूर्ण करना, उन सपनों में नया सामर्थ्य भरना और नए संकल्पों को लेकर आगे बढ़ने का ये पल है। उन्होंने कहा कि भारत ने भी बीते आठ वर्षों में अलग-अलग आयामों पर काम किया है। इस दौरान देश में जो जनभागीदारी बढ़ी और उन्होंने देश के विकास को गति दी है, देश के गरीब से गरीब नागरिक को सशक्त किया है।

उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान ने गरीब को सम्मान से जीने का अवसर दिया। पक्के घर, बिजली, गैस, पानी, मुफ्त इलाज जैसी सुविधाओं ने गरीब की गरिमा बढ़ाई और सुविधा बढ़ाई। कोरोना काल में मुफ्त राशन की योजना ने 80 करोड़ से अधिक देशवासियों को भूख की आशंका से मुक्ति दिलाई। हर पात्र व्यक्ति तक लाभ पहुंचाना ये दायित्व हम पर है। अलग-अलग मंत्रालयों के अलग-अलग वेबसाइटों के चक्कर उसे लगाने से बेहतर कि वो भारत सरकार के एक पोर्टल तक पहुंचे, और उसकी समस्या का समाधान हो।आज जन समर्थ पोर्टल लांच किया गया है वो इसी लक्ष्य के साथ बढ़ाया गया है।

पीएम ने कहा कि आज 21वीं सदी का भारत पीपल सेंट्रिक गवर्नेंस अप्रोच के साथ आगे बढ़ा है। ये जनता ही है जिसने हमें अपनी सेवा के लिए यहां भेजा है इसलिए ये हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है कि हम जनता तक स्वयं पहुंचे। बीते आठ वर्षों में देश ने जो रिफॉर्म किए हैं, उनमें बड़ी प्राथमिकता इस बात को भी दी गई है कि हमारे देश के युवाओं को अपना सामर्थ्य दिखाने का पूरा मौका मिले। हमारे युवा अपनी मनचाही कंपनी आसानी से खोल पाएं, वो अपने उद्यम आसानी से बना पाएं, उन्हें आसानी से चला पाएं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि रिफॉर्म यानी सुधार के साथ ही हमने जिस बात पर फोकस किया, वो सरलीकरण है। केंद्र और राज्य के अनेक टैक्सों के जाल की जगह अब जीएसटी ने ले ली है। इस सरलीकरण का नतीजा भी देश देख रहा है। अब हर महीने जीएसटी कलेक्शन एक लाख करोड़ रुपए के पार जाना सामान्य बात हो गई है।

Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave a Reply