राष्ट्रपति कोविंद पहुंचे प्रयागराज, महापौर अभिलाषा गुप्ता ने भेंट की शहर की चाबी

लखनऊ। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद शनिवार को प्रयागराज पहुंचे । वह करीब छह घंटे संगमनगरी में रहेंगे। बमरौली एयरपोर्ट पर राष्ट्रपति का भव्य स्वागत किया गया। यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन, सीएम योगी आदित्यनाथ, उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, प्रयागराज की महापौर अभिलाषा गुप्ता नंदी और सेना के अधिकारियों के उनका स्वागत ने किया।

महापौर अभिलाषा गुप्ता नंदी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को शहर की चाबी भेंट की। इसके बाद राष्ट्रपति, राज्यपाल और मुख्यमंत्री हेलीकाप्टर से हाई कोर्ट के निकट पोलो ग्राउंड पहुंचे। वहां से सर्किट हाउस पहुंच चुके हैं। इलाहाबाद हाई कोर्ट की प्रधानपीठ परिसर में मल्टी लेवल पार्किंग, अधिवक्ता चैंबर का शिलान्यास करने के अतिरिक्त वह झलवा में बनाए जाने वाले राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय की आधारशिला भी रखेंगे। सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश एनवी रमना, कानून मंत्री किरन रिजिजू और राज्यपाल आनंदी बेन पटेल के अलावा सीएम योगी भी आयोजन में मौजूद रहेंगे।

राष्ट्रपति ने कहा कि प्रयाग की धरती की पहचान शिक्षा के केंद्र के रूप में रही है। कहा कि न्यायपालिका में महिलाओं की भागीदारी बढ़े। महिलाओं में न्याय की समझ अधिकतम होती है। उनमें सबको न्याय देने की प्रवृत्ति सबसे ज्यादा हाती है। एक महिला ससुराल, माइका, पति और पुत्र में एक साथ समन्वय बनाती है।

उन्होंने कहा कि सभी को न्याय मिले। महिला, कमजोर वर्ग को न्याय आसानी से मिले। जिस उप्र प्रदेश विधि विश्वविद्यालय व हाई कोर्ट भवन का निर्माण कार्य होेने वाला है इसका शिलान्यास करके खुश हूं। कहा कि इलाहाबाद हाई कोर्ट देश का चैथा स्थापित हाईकोर्ट है। यह न्याय प्रदान करने की जिम्मेदारी निभाता है। यहां की परंपरा महामना मदन मोहन मालवीय, टीबी सप्रू, मोतललाल नेहरू, पुरुषोत्तम दास टंडन जैसे विशिष्ट जन जुड़े थे, जिन्होंने भारत का गौरवशाल इतिहास लिखा।

सीएम योगी ने कहा कि प्रयागराज में उन परियोजनाओं का शिलान्यास हुआ है जिसकी वर्षों से तमन्ना प्रयागराज व उप्र के लोगों को थी। कहा कि उच्च न्यायलय पार्किंग व विधि विश्वविद्यालय की वर्षों से मांग थी। पीएम के मार्गदर्शन में उप्र सरकार लोगों के जीवन में खुशहाली लाने के लिए प्रयास कर रही है। आम व्यक्ति को न्याय उपलब्ध हो सके। कहा कि न्यायमूति आवास के लिए 611 आवास स्वीकृत थे 247 बन चुके हैं। 364 निर्माणाधीन हैं। इस दौरान हाईकोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता एबी सरन के तैल चित्र का राष्ट्रपति ने अनावरण किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fourteen − four =