अफगान नागरिकों से तालिबान की अपील, देश छोड़कर न जाएं

महिलाओं की आवाजे अब टीवी व रेडियो चैनलों पर नहीं होगी प्रसारित

काबुल। तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद से लगातार लोगों को शिकार बना रहा है। साथ ही तेवर दिखाने शुरू कर दिया है। जिसके बाद अफगान नागरिक और विदेश के लोग भी अफगानिस्तान छोड़ कर जाने लगे हैं।

हालांकि, तालिबान ने अफगान नागरिकों से देश न छोड़कर जाने और अपने मुल्क की तरक्की के लिए काम करने की अपील है। तालिबान ने ऐसे लोगों के लिए एक बयान जारी किया है कि जो लोग देश से बाहर जाना चाहते हैं वे कमर्शियल उड़ानों के दोबारा शुरू होने के बाद उचित दस्तावेजों के साथ और सम्मानजनक तरीके से विदेशों की यात्रा कर सकते हैं।

तालिबान के राजनीतिक कार्यालय के उप निदेशक शेर मोहम्मद अब्बास स्टानिकजई ने कहा है कि जो अफगानी नागरिक देश छोड़ना चाहते हैं, उनको इंतजार करना होगा। वे देश में वाणिज्यिक उड़ानों की बहाली के बाद से पासपोर्ट और वीजा दस्तावेजों के साथ सम्मानजनक और शांतिपूर्वक तरीके से देश के बाहर जा सकते हैं। तालिबान के राजनीतिक कार्यालय के अंग्रेजी मीडिया प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने ट्विवट पर इसकी जानकारी दी।

वहीं, काबुल में एयरपोर्ट के बाहर बम धमाकों के बाद भी हजारों अफगान नागरिक वहाँ पर एकत्र हैं। तालिबान के डर से वह देश छोड़कर जाना चाहते हैं। इस प्रयास में अब तक अनेक लोगों की जान चली गई है। बात दें कि गुरुवार को हुए आत्मघाती धमाके में करीब 170 अफगान नागरिक और 13 अमेरिकी सैनिक मारे गए। 36 घंटे के भीतर अमेरिका ने ISIS-K के ठिकानों पर ड्रोन हमला कर इसका बदला भी ले लिया और अमेरिका ने दावा किया कि हमले का मुख्य साजिशकर्ता मारा गया है।

वहीं तालिबान ने तमाम तरह के नियम-कानूनों के साथ वह संगीत और महिलाओं पर कठोर पाबंदियां लगाने लगा है। अफगानिस्तान के कांधार में तालिबान ने टीवी और रेडियो चैनलों पर संगीत और महिला आवाजों पर प्रतिबंध लगा दिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × four =