28 C
Lucknow
Sunday, November 28, 2021

झोलाछाप डॉक्टरों पर अधीक्षक व विधायक की बरस रही है कृपा दृष्टि।

सीतापुर-राहुल मिश्रा /NOI-उत्तरप्रदेश जनपद सीतापुर के मिश्रिख सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अंतर्गत ग्राम पंचायत आंट बिना लाइसेंस झोलाछाप डॉक्टरों पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है सूत्रों के अनुसार मिश्रिख तहसील अवैध रूप से झोलाछाप डॉक्टर अपनी दुकान सजाए बैठे हैं डॉ आशीष सिंह अधीक्षक के संरक्षण में कार्य यह फल फूल रहा है कोई बड़ा हादसा हो जाएगा तभी कुंभकरण की नींद सोए हुए स्वास्थ्य विभाग के अधीक्षक की नींद खुलेगी लगभग आधा दर्जन क्लीनिक और इतने ही मेडिकल स्टोरों का धड़ल्ले से संचालन किया जा रहा है इनमें से एक चर्चित डॉक्टर डॉक्टर अब्दुल बारिक जो कि हर मर्ज का इलाज करने में काफी माहिर बताए जाते हैं उनके यहां विभिन्न बीमारियों से ग्रसित ग्रामीणों का तांता भी लगा रहता है जबकि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के नजदीक ही संजीवनी क्लीनक संचालित होती है जिसमें कोई भी डॉक्टर नहीं है ना ही रजिस्ट्रेशन है धड़ल्ले से मरीजों को देखते नजर आ रहे हैं इस ओर से स्वास्थ्य विभाग का जिम्मेदारी से अपनी आंखें पूरी तरह बंद किए हुए हैं बगैर डिग्री के डॉक्टरों द्वारा संचालित की जा रही क्लिनिको में छोटी बड़ी मरजो के साथ ही हर प्रकार के ऑपरेशन करने तक की व्यवस्था सुलभ है इनके यहां इलाज कराने के बाद मरीज सकुशल अपने घर वापस जाएगा इस बात की कोई गारंटी नहीं इसी तरह यहां संचालित हो रहे मेडिकल स्टोर पर भी नकली दवाएं धड़ल्ले से बेची जा रही हैं मानक विहीन संचालित इन मेडिकल स्टोर पर नियमानुसार जो व्यवस्थाएं अनुमन्य है उनका पूरी तरह से अकाल ही दिखाई देता है किसी भी मेडिकल स्टोर पर फार्मासिस्ट की तैनाती है ही नहीं तमाम तो ऐसे हैं जिन पर दवाए रखने के लिए फ्रिज या फ्रीजर की भी व्यवस्था नहीं है  गलत ना होगा की इन मेडिकल स्टोर का संचालन स्वयं नीम हकीम खतरे जान की भूमिका भी अदा करने से नहीं चूकते छोटी मोटी मर्जो का इलाज यह स्वयं कर देते हैं सब कुछ जानते हुए भी स्वास्थ्य महकमे से जिम्मेदार पूरी तरह उदासीन बने हुए हैं जन जीवन से खिलवाड़ हो रहा है और जिम्मेदार मौन है जिला प्रशासन को इस दिशा में गंभीरता से जांच करा कर कड़े कदम उठाने की आवश्यकता है ताकि सीधे-साधे ग्रामीणों का अवैध मेडिकल स्टोर और क्लीनको के संचालन द्वारा शोषण ना कर सके।
क्या कहते है  सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक आशीष सिंह
जब झोलाछाप डॉक्टरों के संबंध में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मिश्रीख के अधीक्षक आशीष सिंह से बात की गई तो कहा कि छापेमारी या जांच पड़ताल नहीं की जाएगी यह विधायक  रामकृष्ण भार्गव के स्पोटर है उनका मामला है वही जब इस संबंध में क्षेत्रीय विधायक रामकृष्ण भार्गव से बात की गई तो कहा कि झोलाछाप डॉक्टरों पर जांच पड़ताल कोई नहीं करेगा । झोलाछाप डॉक्टरों पर छापा मारी नहीं की जाएगी अब सवाल यह उठता है जहां पर योगी सरकार लगातार फर्जी नर्सिंग होम पर लखनऊ में छापेमारी करा कर उनको बंद कराया वही ज्यादा जो पैसा वसूली मरीजों से कर रहे हैं उन पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं उन्हीं के भाजपा विधायक ऐसा कहकर संरक्षण खुलेआम देते हुए नजर आ रहे हैं।
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave a Reply