28 C
Lucknow
Monday, July 22, 2024

G-20 शिखर सम्मेलन के पहले सत्र में पीएम मोदी बोले- बेहद उपयोगी रहा

एजेंसी | नई दिल्ली में जी 20 शिखर सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है. भारत मडंपम में शिखर सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है. यहीं पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आए वैश्विक नेताओं का स्वागत किया. सम्मेलन के पहले दिन के पहले सत्र को लेकर पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि दिल्ली में जी 20 शिखर सम्मेलन की सुबह उपयोगी रही.

पीएम नरेंद्र मोदी ने शिखर सम्मेलन के पहले दिन के शुरुआती सत्र के बारे में X पर एक वीडियो पोस्ट किया जिसमें विदेशी नेताओं के स्वागत और सत्र का जिक्र किया. रूस और यूक्रेन के बीच जंग की वजह से दुनिया के फैले तनाव और मतभेदों के बीच पीएम मोदी ने दुनियाभर से आए नेताओं से अपील करते हुए कहा कि पूरी दुनिया में विश्वास में आई कमी को एक-दूसरे पर भरोसे में तब्दील करने के साथ-साथ पुरानी चुनौतियों के नए समाधान खोजने की कोशिश करें.

भारत मंडपम में हो रहे शिखर सम्मेलन में एक पृथ्वी सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि यह वक्त वैश्विक कल्याण के लिए हम सबको साथ मिलकर चलने का है. इस सत्र में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक के अलावा सउदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान और ब्राजील के राष्ट्रपति लुइज इनासियो लूला डा सिल्वा समेत कई नेता शामिल हुए.

इससे पहले सम्मेलन में शामिल होने के लिए जर्मनी के चांसलर ओलाफ शोल्ज, फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों, सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान और विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख टेड्रोस अधनोम घेब्रेयेसस आज सुबह नई दिल्ली पहुंचे

नई दिल्ली पहुंचने पर सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान का स्वागत केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने किया, जबकि राष्ट्रपति मैक्रों का स्वागत केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने किया. इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, ब्राजील के राष्ट्रपति लुइज इनासियो लूला डा सिल्वा और ब्रिटिश प्रधानमंत्री ऋषि सुनक समेत कई नेता कल शुक्रवार को ही नई दिल्ली आ गए थे.

भारत जी 20 के वर्तमान अध्यक्ष के रूप में इस वैश्विक संगठन की शिखर सम्मेलन की मेजबानी कर रहा है. भारत के बाद यह मेजबानी ब्राजील को मिलेगी. दुनिया के 20 अहम देशों के संगठन जी 20 में भारत, अमेरिका और चीन के अलावा ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, अर्जेंटीना, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इंडोनेशिया, इटली, जापान, कोरिया गणराज्य, मेक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, तुर्किये, ब्रिटेन, और यूरोपीय संघ (ईयू) शामिल हैं.

Latest news

- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें