28 C
Lucknow
Saturday, February 4, 2023

भारी वर्षा में तालाबों में कर्मचारियों ने विकास कार्य के नाम लाखों का किया भ्रष्टाचार ।।

 


सीतापुर-अनूप पाण्डेय-NOI-उत्तरप्रदेश के जनपद सीतापुर में ग्राम पंचायत में भारी वर्षा के दरमियान जमकर ग्राम पंचायतों में भ्रष्टाचार हुआ है वही एनसीपी के जिला अध्यक्ष ने  आरोप लगाते हुए कहा कि अगर जांच कर कार्रवाई नही हुई तो होगा विशाल धरना प्रदर्शन ।
आपको बताते चलें पूरा मामला सीतापुर जनपद के विकासखंड हरगांव का है जहां पर
जिस समय सीतापुर में भारी बारिश हो रही थी और सम्पूर्ण जनपद बाढ़ अथवा जलभराव से ग्रस्त था एवं बरसात, बाढ़ अथवा जलभराव के कारण कार्य करवाना सम्भव नहीं था उसी समय विकास खण्ड हरगांव की विभिन्न ग्राम पंचायतों में मनरेगा श्रमिकों के नाम विभिन्न कार्यों के नाम पर भुगतान कर जमकर बंदरबांट किया गया है।
दिनांक 05.10.2022 से 10.10.2022 तक भारी बारिस हो रही थी तालाब भरे हुये थे इसके बावजूद निम्नलिखित ग्राम पंचायतों में तालाब खुदाई के नाम पर श्रमिकों को धनराशि का भुगतान किया गया है :–

1. परसेहरानाथ 2. रौना 3. राजेपुर 4. बेनीपुर राजा 5. देईरामा 6. भटपुरवा 7. रीछिन 8. उदनापुर कोरैय्या 9. मल्लापुर
उक्त ग्राम पंचायतों में तैनात रोजगार सेवक, तकनीकी सहायक, सचिव ग्राम पंचायत और खण्ड विकास अधिकारी की मिली भगत से हजारों श्रमिकों के नाम पर कई लाख रुपयों का भुगतान किया गया।
वही राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के जिला अध्यक्ष प्रवीण सिंह में मुख्य विकास अधिकारी को शिकायती पत्र देकर जांच की मांग की है वही बताया कि, उपरोक्त ग्राम पंचायतों की जांच जनपद स्तरीय जांच एजेंसी से कराकर दिनांक 05.10 .2022 से लेकर 10 .10.2022 तक के काम के नाम पर निकाली गई धनराशि की वसूली सम्बन्धित रोजगार सेवक, तकनीकी सहायक मनरेगा, सचिव ग्राम पंचायत एवं खण्ड विकास अधिकारी से कराई जाये। अगर जांच नहीं होती है तो राष्ट्रवादी कांग्रेस के पार्टी के जिला अध्यक्ष द्वारा जनपद मुख्यालय पर अनिश्चितकालीन धरना-प्रदर्शन करने को बाध्य होगी। जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी जिला प्रशासन और विकास खण्ड हरगांव की होगी।
अब देखने वाली यह बात होती है कि शिकायती पत्र पर कब मुख्य विकास अधिकारी अक्षत वर्मा जांच कर इन भ्रष्ट कर्मचारियों पर कार्रवाई करते हैं

Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

Leave a Reply