28 C
Lucknow
Thursday, July 18, 2024

PM मोदी यूएई के लिए रवाना

New Delhi: Prime Minister Narendra Modi waves from plane as he leaves for a three-nation tour of China, Mongolia and South Korea, in New Delhi on Wednesday.   PTI Photo by Shahbaz Khan (PTI5_13_2015_000258B)
New Delhi: Prime Minister Narendra Modi waves from plane as he leaves for a three-nation tour of China, Mongolia and South Korea, in New Delhi on Wednesday. PTI Photo by
Shahbaz Khan (PTI5_13_2015_000258B)

नई दिल्ली,एजेंसी। रविवार को दो दिन के संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) दौरे पर रवाना हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खाड़ी देश को ‘मिनी-इंडिया’ कहते हुए इसे अपने दिल के काफी करीब बताया है। यूएई में करीब 26 लाख भारतीय रहते हैं। शारजाह के अख़बार ख़लीज टाइम्स से बातचीत में पीएम मोदी ने कहा कि 34 साल बाद किसी भारतीय प्रधानमंत्री का यहां आना काफी अनोखी बात है।

पीएम मोदी ने कहा ‘भारत और यूएई दोनों ही देश एक दूसरे के लिए शीर्ष प्राथमिकता हैं। मैं तो यूएई को ऐसे ही देखता हूं। खाड़ी देश, भारत के आर्थिक, ऊर्जा और सुरक्षा क्षेत्र के लिए काफी महत्व रखता है। हमने संकल्प लिया है कि एक दूसरे से लगातार उच्च-स्तरीय बातचीत बनाए रखेंगे और सामरिक साझेदारी को मजबूत बनाएंगे।’

पीएम के एजेंडा में दोनों देशों के बीच निवेश और कारोबारी रिश्ते में सुधार लाना शामिल है इसलिए इस दौरे में वह कई व्यवसायिक बैठकों का हिस्सा भी बनेंगे। भारत और यूएई के बीच हर साल 6000 करोड़ डॉलर का व्यापार होता है जो कि 2013 से कम ही है लेकिन इसके बावजूद अमेरिका और चीन के बाद ये तीसरा देश है जिसके साथ भारत सबसे ज्यादा व्यापार करता है। बातचीत में आंतकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट के खाड़ी क्षेत्र में बढ़ते दख़ल पर भी चर्चा हो सकती है।

रविवार शाम पीएम मोदी अबू धाबी की शेख़ जायद मस्जिद जाएंगे जिसे भारत समेत दुनिया भर से लाए गए संगमरमर से बनाया गया है। यहां दुनिया की सबसे बड़ी हाथ से बनी क़ालीन भी है जिसपर हज़ारों लोग एक साथ बैठकर दुआ करते हैं। इसके अलावा प्रधानमंत्री उस आवासीय कैंप में भी जाएंगे जो 28 हजार कर्मचारियों का ठिकाना है। यहां रहने वाले करीब 300 लोगों से पीएम मुलाकात भी करेंगे।

सोमवार को प्रधानमंत्री के दुबई क्रिकेट स्टेडियम जाने की खबर है जहां वह 50 हज़ार भारतीयों का संबोधन करेंगे। इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए ज़रुरत से ज्यादा आवेदन मिलने की वजह से आयोजकों को समय से पहले रजिस्ट्रेशन बंद करना पड़ा। हालांकि स्टेडियम के बाहर भी बड़े स्क्रीन का प्रबंध किया जा रहा है ताकि लोग बाहर से भी पीएम के भाषण के गवाह बन सकें।

Latest news

- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें